02 Jan

दक्षिणा क्यों देते हैं ?

दक्षिणावतामिदमानि  चित्रा दक्षिणावतां  दिवि  सूर्यासः ।

दक्षिणावन्तो अमृतं भजते , दक्षिणावंत    प्रतिरंत आयुः ||

दक्षिणा प्रदान करने वालों के ही आकाश में तारागण के रूप में दिव्य चमकीले चित्र हैं , दक्षिणा देने वालो ही भूलोक में सूर्य की भांति चमकते हैं , दक्षिणा देने वालों को अमरत्व प्राप्त होता है और दक्षिणा देने वाले ही दीर्घायु होकर जीवित रहते हैं । शास्त्रों में दक्षिणारहित यज्ञ को निष्फल बताया गया है । जिस वेदवेत्ता ने हवन आदि कृत्य मंत्रोपचार करवाए हों , उसे खाली हाथ लौटा देना भला कौन उचित कहेगा ?