25 Sep

This is the seventh form of Mother Durga and is worshipped on the seventh day of Navaratri. She has a dark complexion, disheveled hair and a fearlessness posture. A necklace flashing lightning adorns her neck. She has three eyes that shine bright and terrible flames emanate from her breath. She is black like Goddess Kali and holds a sparkling sword in her right hand battle all evil. The color to wear on the seventh day is Blue. 

आज का सातवां  नवरात्र माँ कालरात्रि  के नाम  !

जय माँ  कालरात्रि  !!

माँ कालरात्रि की पूजा इस मंत्र के उच्चारण से की जानी चाहिए

एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता, लम्बोष्टी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी।
वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा, वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी॥

मां कालरात्रि की पूजा। यहां पढ़ें मां कालरात्रि की आरती

 

कालरात्रि जय-जय-महाकाली।
काल के मुह से बचाने वाली॥

दुष्ट संघारक नाम तुम्हारा।
महाचंडी तेरा अवतार॥

पृथ्वी और आकाश पे सारा।
महाकाली है तेरा पसारा॥

खडग खप्पर रखने वाली।
दुष्टों का लहू चखने वाली॥

कलकत्ता स्थान तुम्हारा।
सब जगह देखूं तेरा नजारा॥

सभी देवता सब नर-नारी।
गावें स्तुति सभी तुम्हारी॥

रक्तदंता और अन्नपूर्णा।
कृपा करे तो कोई भी दुःख ना॥

ना कोई चिंता रहे बीमारी।
ना कोई गम ना संकट भारी॥

उस पर कभी कष्ट ना आवें।
महाकाली माँ जिसे बचाबे॥

तू भी भक्त प्रेम से कह।
कालरात्रि माँ तेरी जय॥